Web Prime Media

A True News Junction

गुरु गोबिंद सिंह की जयंती ( प्रकाश पर्व ) पर PM मोदी का ऐलान- अब हर साल 26 दिसंबर को मनाया जाएगा वीर बाल दिवस.

पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वी’ट करते हुए लिखा., ‘वी’र बाल दिवस उसी दिन होगा जिस दिन साहिबजादा जोरावर सिंह जी और साहिबजादा फतेह सिंह जी श’हीद हुए थे.

सिखों के 10वें गुरु गोबिंद सिंह की जयंती के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा है कि अब हर साल 26 दिसंबर को वी’र बाल दिवस मनाया जाएगा.

पीएम ने इसका ऐलान करते हुए कहा, ‘श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के प्रकाश पर्व के पावन अवसर पर, मुझे यह बताते हुए गर्व हो रहा है कि इस वर्ष से, 26 दिसंबर को ‘वी’र बाल दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा.

धर्म र’क्षा के लिए गुरु गोबिंद सिंह ने अपने परिवार को कुर्बा’न कर दिया. उनके चार बेटे धर्म र’क्षा के लिए ही शही’द हो गए थे. गुरु गोबिंद सिंह के दो बेटे 26 दिसंबर 1704 को महज 9 और 6 वर्ष की छोटी उम्र में ही श’हीद हो गए थे.

पीएम ने ट्वी’ट करते हुए लिखा., ‘वी’र बाल दिवस उसी दिन होगा जिस दिन साहिबजादा जोरावर सिंह जी और साहिबजादा फतेह सिंह जी शही’द हुए थे. इन दोनों महानुभावों ने धर्म के महान सिद्धांतों से विचलित होने के बजाय मृ’त्यु को प्राथमिकता दी.’

पीएम मोदी ने आगे लिखा, ‘माता गुजरी, श्री गुरु गोबिंद सिंह जी और 4 साहिबजादों की वीर’ता और आदर्श लाखों लोगों को श’क्ति देते हैं. वे अन्या’य के आगे कभी नहीं झुके.

उन्होंने एक ऐसी दुनिया की कल्पना की जो समावेशी और सामंजस्यपूर्ण हो. समय की मांग है कि अधिक से अधिक लोगों को इनके बारे में जानना चाहिए.’

बेटों की श’हादत
गुरु गोबिंद जी ने अपने सभी बेटों को धर्म की र’क्षा के लिए मुगलों से लड़’ते हुए बलि’दान दिया था. बाबा अजीत सिंह और बाबा जु’झार सिंह ने 40 बहा’दुर सिख यो’द्धाओं के साथ मिलकर चमकौर का यु’द्ध मुगलों के खिला’फ ल’ड़ा.

ये यु’द्ध पंजाब के चमकौर में 1704 में 21 दिसंबर से 23 दिसंबर तक ल’ड़ा गया.

गुरु गोबिंद सिंह जी सुरक्षि’त रहे, लेकिन इस यु’द्ध में बाबा अजीत सिंह और बाबा जुझा’र सिंह शही’द हो गए.

 

26 दिसंबर 1704 को सरहिंद के नवाब ने इस्लाम धर्म कबूल न करने पर गुरु गोबिंद सिंह जी के दो बेटों जोरावर सिंह और फतेह सिंह को जिं’दा दीवार में चुनवा दिया था. माता गुजरी भी श’हीद हो गई थीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *