Web Prime Media

A True News Junction

WHO का आंकड़ा : भारत में कोरोना से हुई 47 लाख लोगों की मौ’त सरकार ने…

हाल ही में भारत सरकार ने कोरोना की वजह से म’रने वालों का आंकड़ा जारी किया है. हालांकि WHO कुछ और ही कह रहा है. WHO ने कोविड से म’रने वालों का जो आंकड़ा जारी किया है उसमें और स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों में जमीन आसमान का फर्क है.

WHO का रिपोर्ट : भारत में कोरोना से 47 लाख लोगों की मौत देखे वीडियो।

अमित शाह की दो टूक, हर हाल में CAA लागू करेंगे देखे पूरी वीडियो।

डब्लूएचओ का कहना है कि दुनियाभर में होने वाली मौ’तों की सही गिनती नहीं की गई है. भारत में जो गिनती की गई है उससे लगभग 10 गुना ज्यादा लोगों की मौ’त हुई है. बताते चलें कि डब्लूएचओ ने यह आकलन जिस मेथड से दिया है उसे एक्सेस डे’थ कहा जाता है.

इस मेथड में महामारी से जूझने वाले क्षेत्र की मृ’त्यु दर के आधार पर आकलन किया जाता है कि कितने लोगों की मौ’त हुई होगी. WHO के डायरेक्टर जनरल ने कहा, यह आंकड़ा न केवल म’हामारी के प्रभाव के बारे में बताता है बल्कि देशों को इससे सीख लेनी चाहिए कि वे अपने स्वास्थ्य तंत्र को बेहतर करें.

https://youtu.be/6rjza6EsoJI

संक’ट के समय में अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं ही मानवता की र’क्षा कर सकती हैं. जिस अवधि में WHO ने 47 लाख मौ’तों का आकलन किया है उसमें सरकारी आंकड़े केवल 5.2 लाख मौ’त का दावा करते हैं.

देश दुनिया की बड़ी खबरें।

WHO के आंकड़े दिखाते हैं कि अगस्त 2020 तक जबकि सख्त लॉकडाउन लगा था, मौ’तें कम हो रही थीं. इस दौरान 62 हजार लोगों की मौ’त हुई. सितंबर से मौ’तों का आंकड़े तेजी से बढ़ना शुरू हो गया और कई राज्यों में कोरोना की पहली लहर ने हाहाका’र मचा दिया.

यह लहर अप्रैल मई और जून में पीक पर थी और तब तक 27 लाख लोगों की मौ’त हो गई. WHO ने एक्सेस डे’थ के आंकड़ों के मुताबिक यह आकलन किया है. इसका मतलब होता है कि सामान्य रूप से जितनी मौ’तें होती थीं, उनसे कितनी ज्यादा लोगों की जान गई.

PM Modi ने ऐसा क्या कहा कि नारों से गूंजा Germany देखे वीडियो।

इस हिसाब से आकलन किया जाता है कि म’हामारी की वजह से कितने लागों की जा’न गई होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *